language
Hindi

सूर्य का मकर राशि में गोचर: 14 जनवरी के बाद बदलेगी इनकी किस्मत

view2596 views
भारत वर्ष त्यौहारों का देश है, 365 दिनों के वर्ष में हर दिन कोई ना कोई खास तिथि या त्यौहार अवश्य होता है। कुछ को समस्त देश मिल-जुलकर मनाता है तो कुछ देश के किसी विशिष्ट कोने में मनाए जाते हैं। ऐसा ही है उत्तर भारत का प्रचलित त्यौहार मकर संक्रांति, जिसे उत्तर भारत के पश्चिम भाग में लोहड़ी के तौर पर मनाया जाता है, दक्षिण में पोंगल, और उत्तर–पूर्वी भारत में बिहू के नाम से मनाया जाता है। 
इस त्यौहार को मनाने के पीछे छिपी मान्यताएं और रिवाज... पूरी तरह भिन्न हो सकते हैं लेकिन ये त्यौहार उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से लेकर पश्चिम तक.... संपूर्ण भारत को एक साथ जोड़ता है। 

इस वर्ष भी 14 जनवरी को मकर संक्रांति का त्यौहार मनाया जाएगा, इस दिन दक्षिणायन बैठे सूर्य उत्तरायण होते हैं और यह घटनाक्रम ना सिर्फ धार्मिक बल्कि ज्योतिष और वैज्ञानिक...दोनों ही दृष्टिकोणों से खास महत्व रखता है। 

इस बार मकर संक्रांति का सर्वार्थ सिद्धि योग 14 के साथ-साथ 15 को भी बन रहा है। सूर्य इस बार 14 जनवरी की रात 8 बजकर 8 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे जो 13 फरवरी दोपहर 3.02 बजे तक मकर राशि में रहेंगे। जहां तक स्नान और दान के लिए शुभ योग की बात करें तो यह 15 जनवरी को बन रहा है। आइए जानते हैं राशि अनुसार सूर्य का यह गोचर आपके ऊपर क्या प्रभाव डालने वाला है।  

मेष राशि 

मेष राशि के लिए यह गोचर दशम भाव में होगा जिसके परिणामस्वरूप जातकों को सम्मान की प्राप्ति संभव है। आपको अपने ऑफिस या कार्यक्षेत्र में उच्च अधिकारियों का सहयोग प्राप्त हो सकता है लेकिन ध्यान रखें माता-पिता के साथ थोड़ा विवाद हो सकता है। नौकरी में पदोन्नति भी संभव है। 

वृषभ राशि 

वृषभ राशि की कुंडली में यह गोचर नौवें भाव में होने जा रहा है, जो जातक के सुख को प्रभावित करता है। यह गोचर आपके लिए समृद्धि और संपन्नता लेकर आ रहा है, जो आपको मानसिक रूप से संतुष्ट करने वाला है। अगर आप नया वाहन लेने का मन बना रहे हैं तो यह समय आपके लिए उत्तम है। किसी को धोखा देने या झूठ बोलने का विचार भी त्याग दें। 

मिथुन राशि 

अगर आपकी कुंडली मिथुन राशि की है तो आपके लिए यह गोचर अष्टम भाव में होने जा रहा है। इस परिवर्तन की वजह से आपका पराक्रम भंग हो सकता है और साथ ही यह मुमकिन है कि भाई-बहनों के साथ कुछ मनमुटाव की स्थिति आ जाए। दांपत्य जीवन में थोड़ी कड़वाहट घुल सकती है। 

कर्क राशि 

कर्क राशि के जातकों की बात करें तो उनके लिए यह गोचर सप्तम भाव में होने जा रहा है। उनके लिए यह गोचर विवाहित जीवन के लिए अच्छा नहीं कहा जा सकता। साथ ही साथ साझेदारों की वजह से हानि भी हो सकती है। जीवन साथी के स्वास्थ्य की समस्या उत्पन्न हो सकती है, अपना और उनका ध्यान रखें। 

सिंह राशि 

सिंह राशि के जातकों के लिए यह गोचर छठे भाव में होने जा रहा है, जो किसी भी स्थिति में शुभ नहीं है। अगर किसी विपरीत ग्रह जैसे शनि, राहु की दशा चल रही है तो आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान अवश्य रखना चाहिए। आपको मानसिक परेशानियां झेलनी पड़ सकती है और साथ ही संतान की ओर से भी कुछ खटपट रह सकती है।
 
कन्या राशि 

अगर आपकी कुंडली कन्या राशि की है तो इस समय आपको सभी कार्यों में सफलता मिलने की संभावना है। शिक्षा और प्रतियोगिता जैसे क्षेत्रों में सफलता के पूर्ण योग बने हुए हैं, आप जिन कार्यों को अपने हाथ में लेंगे, वे सभी समय पर पूर्ण हो जाएंगे। समाज के प्रतिष्ठित लोगों के साथ आपके अच्छे संबंध बनेंगे। 

तुला राशि  

यह गोचर चौथे भाव में होगा, जो शुभ नहीं है। आपके परिवार की स्त्रियां बीमार रह सकती हैं, जिसकी वजह से आप पारिवारिक सुख में कमी महसूस करेंगे। अगर आप कृषि से संबंधित कार्य में संलिप्त हैं तो आपको ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए। घर में कलेह-क्लेश रह सकता है।  

वृश्चिक राशि 

अगर आपकी राशि वृश्चिक है तो इसका अर्थ यह है कि आपके लिए यह समय अत्यंत शुभकारी है। आपको रोग और कर्ज से मुक्ति मिलने की संभावनाएं बन रही हैं। पराक्रम भाव मजबूत रहेगा और समाज में आपका मान-सम्मान भी बखूबी बढ़ेगा। धन की आवक अच्छी बनी रहेगी। 

धनु राशि 

धनु राशि की बात करें तो यह गोचर किसी मूल्यवान चीज को खोने का भय लेकर आ रहा है। इस दौरान आपको आंखों और सिर में दर्द जैसी शिकायतों का सामना करना पड़ सकता है। आपका मन कुछ विचलित रह सकता है, स्वयं पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें।

मकर राशि 

मकर राशि के जातकों की बात करें तो सूर्य अष्टमेश होकर उन्हीं की राशि पर आ रहा है। इसके प्रभावस्वरूप बिना उद्देश्य के बहुत सी यात्राएं करनी पड़ सकती है। अगर आपके सप्तम भाव में कोई दोष है तो इस दौरान आपका विवाहित जीवन बहुत उथल-पुथल वाला रहेगा। आंख और मुंह दर्द की शिकायत संभव है। 

कुंभ राशि 

आपको अचानक धन हानि की संभावनाएं हैं, साथ ही साथ नए कार्य-व्यापार में भी परेशानियां आ सकती हैं, लेकिन जल्द ही ये परेशानियां दूर भी हो जाएंगी। आप बहुत से विवादों में फंस सकते हैं लेकिन ध्यान रखें न्यायालय से दूरी ही रहे। 

मीन राशि 

मीन राशि के जातकों के लिए यह गोचर उनकी वाणी को प्रखर बनाएगा। आपको शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी और धन की कमी भी दूर हो जाएगी। अगर किसी पुराने रोग की चपेट में हैं तो वो भी अब दूर हो जाएगा। आपको कर्जों से मुक्ति मिलेगी।  

आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी