language
Hindi

27 जुलाई की रात लगेगा सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण, चंद्र दोष शांति के लिए अवश्य करवाएं ये पूजा

view246 views

यूं तो आगामी 27 जुलाई, 2018 को पड़ने वाला चंद्र ग्रहण साल का दूसरा चंद्र ग्रहण होगा लेकिन इसे सदी का सबसे लंबा ग्रहण माना जा रहा है, जिसमें पूर्ण ग्रहण का प्रभाव लगभग 1 घंटा 42 मिनट तक रहेगा। हालांकि ग्रहण का संपूर्ण समय 3 घंटे 54 मिनट का है। ज्योतिषशास्त्रियों की नजर में 27-28 जुलाई की रात को पड़ने वाला यह ग्रहण पृथ्वी पर रहने वाले सभी जातकों पर अपना प्रभाव डालेगा, इसलिए भारत में रहने वाले लोगों को ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है। ग्रहण का समय रात 11 बजकर 54 मिनट से 3 बजकर 49 मिनट तक निर्धारित है, इस दौरान विशेष सावधानियां रखने की सलाह भी दी जा रही हैं। 

ज्योतिषशात्र के अनुसार ग्रहण का समय वैसे भी अशुभ होता है और जहां-जहां ग्रहण की छाया पड़ती है वहां इसका प्रभाव ज्यादा पड़ता है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार जिस जातक की कुंडली में चंद्रमा की स्थिति अच्छी नहीं है या जिनके जीवन में पीड़ित चंद्रमा की वजह से कुछ समस्याएं चल रही हैं तो उन्हें ग्रहण के दिन चंद्रमा की शांति के लिए विशेष पूजाएं अवश्य करवानी चाहिए, साथ ही साथ ग्रहण छूटने के बाद दान करने का भी विशेष महत्व है।

ग्रहण के प्रभाव को समझते हुए एस्ट्रोस्पीक, मंच पर मौजूद सभी जातकों के लिए एक ऐसा अवसर लेकर आया है, जिसकी सहायता से आप बिना किसी परेशानी के ग्रहण के पश्चात दान भी करवा सकते हैं और जाप करवाकर पीड़ित चंद्रमा के दोष से मुक्ति भी पा सकते हैं। वे जातक जो अपनी कुंडली की दशाओं से अनभिज्ञ हैं वो भी इस शुभ कर्म के भागीदार बन सकते हैं। अगर आप किसी कारणवश स्वयं ये पूजा या दान नहीं कर सकते वे एस्ट्रोस्पीक के जरिए अपनी कुंडली के दोषों से मुक्ति पा सकते हैं।


अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दी गई सेवाओं पर क्लिक कर सकते हैं:

 

चंद्र ग्रहण पर अंध विद्यालय में अन्न का दान: 28 जुलाई, 2018

चंद्र ग्रहण पर चन्द्र दोष निवारण मंत्र जाप (11,000): 27-28 जुलाई, 2018

 

आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी