language
Hindi

राशियां और उनकी विशेषताएं

view21676 views
कुल 12 ज्योतिष राशियाँ होती हैं और प्रत्येक राशि की अपनी ताकत और कमजोरियां, स्वयं के विशिष्ट गुण, इच्छा एवं जीवन तथा लोगों के प्रति रवैया होता है जो ज्योतिष शास्त्र के माध्यम से पता लगाया जा सकता है। जन्म के आधार पर राशियों का निर्धारण होता है और राशि के अनुसार स्वभाव का। 

कुंडली - 

आकाश में होने वाले मूवमेंट्स या जन्म के समय ग्रहों की स्थिति के विश्लेषण के आधार पर ज्योतिष कुंडली का अध्ययन करते हैं। कुंडली अध्ययन से हमें कई बातों का पता लगता है जैसे - व्यक्ति की बुनियादी विशेषताएं, प्राथमिकताएं, कमियां आदि। राशियों की विशेषताओं को जानकर व्यक्ति के स्वभाव का पता लगाया का सकता है। 

वैदिक ज्योतिष - 

वैदिक ज्योतिष राशिफल जो स्थिर राशिचक्र पर आधरित है उसे तीन मुख्य शाखाओं में विभाजित किया जा सकता है- भारतीय खगोल विज्ञान, सांसारिक ज्योतिष और भविष्यसूचक ज्योतिष। भारतीय ज्योतिष में हमारे चरित्र, हमारे भविष्य, संगत राशियों के बारे में भविष्यवाणी की जा सकती है। वैदिक ज्योतिष के सबसे उत्तम उपकरणों में से एक राशिफल संगतता है।

राशि तत्व - 

राशिफल की 12 राशियों में से प्रत्येक राशि एक विशिष्ट राशि तत्व के अंतर्गत आती हैं। चार राशिचक्र तत्व बुनियादी चरित्र गुणों, भावनाओं, व्यवहार और सोच पर गहरा प्रभाव डालते हैं। चार राशिचक्र तत्व में से प्रत्येक तत्व हमारे भीतर कार्यरत होता है और हर तत्व एक ऊर्जा का प्रतिनिधित्व हैं। हर ऊर्जा के प्रतिनिधित्व को समझकर सभी सकारात्मक पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करके व्यक्ति के सकारात्मक गुणों को समझ पाने में ज्योतिष शास्त्र हमारी मदद करता  है।

आकाशीय बेल्ट में लगभग 8 डिग्री के भीतर सूर्य, चंद्रमा और सभी परिचित ग्रह एक स्पष्ट स्थिति में ग्रहण के दोनों तरफ चलते हैं। इसे बारह समान विभाजन या चिह्न में बांटा गया है जिन्हें हम 12 राशियों के नाम से जानते हैं। ये 12 राशियां हैं  

एरीस - मेष
टोरस - व्रषभ
जैमिनी - मिथुन
कैंसर - कर्क
लिओ - सिंह
वर्गो- कन्या
लिब्रा - तुला
स्कोर्पियो - वृश्चिक
सैगिटेरियस – धनु
कैप्रिकॉर्न - मकर
एक्वेरियस - कुम्भ
पाइसेज- मीन

राशियों का चिन्ह और राशियों के अक्षर –

1. मेष: भेड़ 
राशि के अक्षर -चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ होते हैं।

2. वृष: बैल 
राशि के अक्षर - ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो नाम अक्षर के होते हैं।
3. मिथुन: नारी व पुरुष का युग्म, नारी के हाथ में वीणा और पुरुष के हाथ में धारण किए हुए चिन्ह 
राशि के अक्षर -का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह रहता है।

4. कर्क: केकडा 
राशि के अक्षर - ही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो रहता है।

5. सिंह: सिंह की आकृति 
राशि के अक्षर -मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे।

6. कन्या: एक लड़की नौका में बैठी हुई हाथ में धान व अग्नि के साथ 
राशि के अक्षर - ढो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो रहता है।

7. तुला: एक पुरुष तराजू हाथ में लिए 
राशि के अक्षर -र, री, रू, रे, रो, ता, ति, तू, ते 

8. वृश्चिक: बिच्छू 
राशि के अक्षर - न, नी, नू, ने, नो, या, यि, यू।

9. धनु: हाथ में धनुष लिए एक पुरुष और साथ ही घोड़ा 
राशि के अक्षर - य, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ, भे 

10. मकर: मृग यानि हिरण के समान मुख 
राशि के अक्षर - भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी 

11. कुंभ: कंधे पर कलश लिए एक पुरुष 
राशि के अक्षर - गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द रहता है।

12. मीन: दो मछलियां एक के मुख पर दूसरे की पूंछ लगकर गोल बनी हुई 
राशि के अक्षर - दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, च, ची 

चार राशिचक्र तत्व हैं:
वायु
अग्नि
पृथ्वी 
जल 

चार राशिचक्र तत्वों के अंतर्गत निम्न राशियां आती हैं:
वायु: मिथुन, तुला, कुंभ
अग्नि: मेष, सिंह, धनु
पृथ्वी: वृष, कन्या, मकर
जल: कर्क, वृश्चिक, मीन

चार राशिचक्र तत्वों के अंतर्गत निम्न राशियों के विशेषताएं :

जल राशि
जल राशि के जातक असाधारण भावनात्मक, अति संवेदनशील, अत्यंत सहज, समुद्र के समान रहस्यमयी होते हैं। गहन वार्तालाप, स्मृति तीक्ष्ण और प्यार में अंतरंगता उनका व्यव्हार होता है। ये लोग अपनी आलोचना करने से भी नहीं चूकते और इन्हें प्रियजन बहुत प्रिय होते है। 
जल राशियाँ हैं: कर्क, वृश्चिक और मीन।

अग्नि राशि
अग्नि राशि के जातक भावुक, गतिशील, मनमौजी, गुस्सैल होते हैं। इन्हे ऊर्जा के स्त्रोत्र के रूप में जाना जाता है। साहसी होने के साथ - साथ ये क्षमाप्रार्थी भी होते हैं। इनकी शारीरिक मज़बूती दूसरों के लिए प्रेरणा का स्रोत होती हैं। ये लोग बुद्धिमान, जागरूक, रचनात्मक और आदर्शवादी होते हैं। 
अग्नि राशियाँ हैं: मेष, सिंह और धनु।

पृथ्वी राशि
पृथ्वी राशि होने के कारण पृथ्वी से इनका गहरा सम्बन्ध होता है। ये लोग पृथ्वी पर जीवन जीने की कला को जानते है। व्यवहारिक अक्ल इनमें कूट-कूट कर भरी होती है। ये लोग रूढ़िवादी, यथार्थवादी और बहुत भावुक होते हैं। भौतिक वस्तुओं से प्यार और विलासिता इनका गहना होता है। व्यावहारिक समझ, वफादारी और स्थिरता इन्हें भांति है। पृथ्वी राशियाँ हैं: वृष, कन्या और मकर।

वायु राशि
वायु राशि के लोग मित्रवत्, बौद्धिक, मिलनसार, विचारक, और विश्लेषणात्मक होते हैं। संवाद करने में और संबंध बनाने में इन्हें निपुणता हासिल होती है। ये लोग दार्शनिक विचार विमर्श, सामाजिक समारोह और अच्छी पुस्तकों के बीच रहना पसंद करते हैं। वायु राशियाँ हैं: मिथुन, तुला और कुंभ।


राशियों की विशेषता-  

प्रत्येक राशि का चरित्र, व्यक्तित्व व विशिष्टता भिन्न होती है। राशि का व्यक्ति की जन्म कुंडली में ग्रहों की स्थिति और राशि के ज्योतिष कारकों का बहुत ही निर्णायक प्रभाव पड़ता है। राशि की विशेषताएं जानकर व्यक्ति सफलतापूर्वक अपना जीवन निर्वाह कर सकता हैं। आइए जानते हैं भिन्न-भिन्न राशियों की विशेषताओं के बारे में:

मेष: 21 मार्च - अप्रैल 1 9

मेष मेढ़े द्वारा प्रतिनिधित्व किया जाता है और आग का संकेत है। मेष ग्रीक का युद्ध देवता था और पौराणिक चरित्र के कई लक्षण इस राशि चिन्ह पर दिखाई देते हैं।
इस राशि चिह्न के तहत जन्में व्यक्ति जीवन की नई उर्जा से भरे, आवेगी, त्वरित और आत्मकेन्द्रित होते हैं। इसमें जन्में लोग शिशु की तरह मासूम होते हैं। इनका प्रतीक मेढ़ा निडर और साहसी होता हैं। अपनी शर्तों पर जीवन जीना चाहते हैं और अपनी विचारधारा से समझौता नहीं कर सकते। 
अति उत्साह से भरे हुए ,लक्ष्य निर्धारित करते हुए आगे बढ़ते है। गलत और सही की पहचान रखते है। अन्याय बर्दाश्त करने वाले नहीं होते हैं। 

राशि की विशेषताएं - 

सशक्त इच्छाशक्ति और काम में कसौटी पर उतरना। 
स्वयं और स्थितियों की उच्च अपेक्षाएं रखना। 
महत्वाकांक्षी जोखिम लेने वाला व्यक्ति। 
भावुक और अधीरता। 
परिवार और दोस्तों के प्रति वफादार, समर्पित। 
सभी से प्यार करने वाले। 
पुष्ट, साहसी और ताकतवर।

वृषभ: 20 अप्रैल-20 मई

वृष बैल द्वारा प्रतिनिधित्व किया जाता है और इसका चिन्ह पृथ्वी है।
इस राशि चिह्न के तहत जन्में जातक बिना सोचे-समझे किसी भी काम को करने के लिए जूझ जाते हैं। ये लोग अपने प्रयासों और कड़ी मेहनत का फल है। ये धरातल से जुड़े व्यक्ति होने के कारण व्यवहारिक, स्थायी और विश्वसनीय होते हैं। जिन्दगी में लक्ष्य हासिल करना इनको आता है। स्थायित्व, ईमानदारी और कड़ा संकल्प इनकी ताकत होती हैं। आलसी और सुरक्षा पसंद होने के कारण जोखिम उठाना नहीं चाहते। ये लोग जिद्दी और सख्त मिजाज होते हैं। 

राशि की विशेषताएं 

शारीरिक और मानसिक कार्यों के लिए महान सहनशक्ति के साथ मजबूत होते हैं। 
जिद्दी और भौतिकवादी होते हैं।
सौंदर्य की सराहना करते हैं। 
भावनाएं से भरे और स्वार्थी होते हैं।

मिथुन: 21 मई - 20 जून

मिथुन जुड़वाँ द्वारा प्रस्तुत किया जाता है और चिन्ह हवाई हैमिथुन राशि के जातक हाजिर जवाब, फ़ुर्तीले, आकर्षक और दोस्ताना होते हैं। जिज्ञासु प्रवृत्ति और चतुराई सामाजिक समारोहों और पार्टी के आकर्षण का केन्द्र बन जाते है। इनकी बातें सूचना प्रधान होती हैं। रिश्ते का महत्व जानते हैं। जिन्दगी में अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों से मिलना इनका शौक होता हैं। नये-नये दोस्त बनाना पसंद करते है। परिवर्तन पसंद और समय नापाबन्द होते हैं। 

इमैजिनेशन पॉवर बहुत तेज होती है।
बहुमुखी, अनुकूलनीय और आसानी से ऊब जाते हैं। 
त्वरित दिमाग और तेज बुद्धि वाले होते हैं। 
अच्छे संवादक होते हैं। 
मिलनसार और विविधता के साथ-साथ बदलाव में विश्वास रखते हैं। 
मानसिक विश्लेषण पर निर्भर रहते हैं।

कैंसर: 21 जून - 22 जुलाई

कैंसर को केकड़े द्वारा दर्शाया जाता है और इसका चिन्ह पानी है। कर्क राशि के लोग बहुत ज्यादा संवेदनशील, भावनात्मक, मूडी और निराशावान होते हैं। ये लोग अपने घरों से, अपनी जड़ों, अपने घोंसले से बहुत प्यार करते हैं। ये संवेदनशील और भावनात्मक होते हैं। ये सहज और स्वभाविक ज्ञान से परिपूर्ण होते हैं। यात्रा करना इन्हें पसंद होता है। परिवार और उसकी परंपरा से बहुत प्यार करते हैं। सामाजिक गतिविधियों में भाग लेना, महान देश भक्त होते हैं। 

परिवार और दोस्त सबसे मूल्यवान संपत्तियों की सूची के शीर्ष पर आते हैं। 
पारिवारिक इतिहास जानने के इच्छुक होते है। 
इनके लिए भावनाओं को छिपाना मुश्किल होता है। 
सुरक्षित और आरामदायक जीवन जीना चाहते है।

लियो: 23 जुलाई - 22 अगस्त

यह संकेत शेर द्वारा प्रस्तुत किया जाता है और इसका चिन्ह आग है। मितव्ययी होने के साथ-साथ ये लोग मजबूत, आत्म विश्वासी, और साहसी गुणों को प्रदर्शित करते हैं। तर्क या विफलता इन्हें तेज प्रतिक्रिया के लिए उत्तेजित रहते थे। ये लोग दिल से कार्य करने वाले, ईमानदार और करिश्माई व्यक्तित्व के धनी होते है। स्नेही, नाटकीय व्यवहार से भरपूर, आकर्षण से प्रभाव डालने में सफ़ल रहते हैं। ये बहुत महत्वाकांक्षी होने के साथ-साथ लक्ष्यों को पूरा करने की शक्ति रखते हैं। ये तेज और ढीठ होते है। 

लियो बोल्ड, साहसी और साहसी है। 
स्पॉटलाइट में होना पसंद करते हैं। 
महान निर्णायक और एक अच्छा अभिनेता होते है। 
बहुत उदार और प्यार करने वाले होते है। 
आत्म-मूल्य और व्यक्तित्व को जानते है।

कन्या: 23 अगस्त - 22 सितंबर

कुंवारी द्वारा दर्शाया गया है और पृथ्वी इसका चिन्ह है। 
कन्या राशि वाले कभी अपनी गलती नहीं मानते है। उन्हें अपनी आलोचना सुनना बिल्कुल पसंद नहीं है। शांत प्रवृति के साथ बहुत मेहनती होते हैं। इन्हें कार्य करने और उसका प्रबंधन करने में मजा आता हैं। मीन मेख निकालने की आदत और समीक्षात्मक होने के कारण उपहास का कर्ण बनते है। संतुलित और निष्पक्ष होने के कारण भावनाओं में नहीं बहते हैं। शांत, ईमानदार, स्पष्टवादी, सुव्यवस्थित, संयमहीन और अपने आप में रहने वाले होते हैं। कड़ी मेहनत और शांत संकल्प के साथ अपनी क्षमताएं साबित करके दिखाते हैं।
उच्च अपेक्षाएं रखते हैं। 
करियर में कुशल और सफलता हासिल करते है। 
भावनाओं, विश्लेषणात्मक और हाथ में कार्य पर केंद्रित रहते है। 
पूर्णता को खोजने की इच्छा में अति-महत्वपूर्ण हो स्थिर कार्यकर्ता होते है।

तुला: 23 सितंबर - 22 अक्टूबर

तुला राशि एक अंधा न्याय की मूर्ति है जो जीवन की इच्छाओं और जरूरतों के साथ संतुलन रखने के बारे में सिखाती है। तुला राशि का चिन्ह हवाई संकेत है। 
ये विवादों को निपटाने में कुशल, न्याय की गहरी भावना, निष्पक्षता की लगन इनकी व्यक्तिगत जरूरत होती हैं। चतुर रणनीतिकार और आयोजक, तेज दिमाग, विचारों का दूसरों के साथ संचार करके आनंद लेते हैं। निष्पक्ष तर्क करने के लिए ये कूटनीतिक और समझौते का रास्ता अपनाते हैं। तुला राशि के लोग बहुत ज्यादा आलसी माने जाते हैं। ये लोग सही समय पर सही निर्णय लेने में भी पीछे रह जाते हैं। अकेले न रहकर समूह में रहते हैं। 

न्याय और समानता मुख्य आधार हैं। 
सुंदरता और कला के साथ खुद को घिरा हुआ मानते हैं। 
संगीत उनका शौक होता है। 
अच्छे सामाजिक कौशल होते है।

वृश्चिक: अक्टूबर 23 - नवंबर 21

यह एक बिच्छू द्वारा दर्शाया जाता है। इसका चिन्ह पानी है।ये जटिल,गोपनीय, बहुत भावुक और आवेगी प्रकृति के होते हैं। किसी का विश्वासघात नहीं सहते। ये बहुत वफादार दोस्त हो सकते हैं। विस्मयकारी शक्ति और रहस्यमय नजरें लोगो को सम्मोहित करती हैं। सच बोलना और सुनना इन्हें पसंद होता है। गंभीर, निडर, जिद्दी, तीव्र, भावुक होते हैं। ये अपनी शर्तों पर जीवन जीते हैं और विश्वास करते हैं कि अपने भाग्य को अपने नियंत्रण में रखे हैं। इनमे एक असंतोषणीय जिज्ञासा होती हैं। 

अच्छी और बोल्ड जीवन शैली का आनंद लेते है। 
बड़े पैमाने पर बाधाओं को पार करने की क्षमता के साथ उद्यमी होते है।
स्थितियों का आकलन करने में तेज होते है।

धनु: 22 नवंबर - 21 दिसंबर

यह आधे व्यक्ति, आधा-घोड़े द्वारा प्रस्तुत किया गया है। इसका चिन्ह आग है। ये उत्साही लोग विस्तार पूर्वक जीवन जीने में विश्वास करते हैं। दार्शनिक, धार्मिक दिमाग वाले, स्पष्ट विचारक होते हैं। ये कभी-कभी तार्किक, कुंद और कठोर भी हो सकते हैं। ये लोग जोखिम मेने से नहीं घबराते। ये जितने उत्साही बात करने वाले होते हैं उतने ही उत्साही श्रोता भी होते हैं। ये ज्ञान की खोज में घूमना चाहते हैं। 
दार्शनिक और सूचना का संग्रहकर्ता होते है। 
तेज बुद्धि और मानसिक चुनौतियों और ऊर्जावान होते है। 
घूमने के लिए लालायित रहते है। 
आकर्षक, प्रशंसनीय प्रेमी जो अपने साथी को खुश करने का आनंद लेते हैं।

मकर: 22 दिसंबर - 1 9 जनवरी

मकर को एक बकरी द्वारा दर्शाया जाता है। ये अत्यंत व्यावहारिक होते हैं। ये अपनी कड़ी मेहनत का फल प्रसिद्धि, प्रतिष्ठा और पैसे के रुप में पाते हैं। मेहनती, ईमानदार, महत्वाकांक्षी, सहिष्णु, धैर्यवान, और विश्वसनीय व्यक्ति होते है। इनका स्वामी ग्रह शनि होता हैं, जिसकी वजह से ये महान अनुशासनशील बनते हैं। अत्यंत सावधानी और दृढ़ दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ते हैं।

व्यावहारिक समस्या-समाधान करने वाले और उत्कृष्ट आयोजक होते है। 
जीवन की योजना प्लानिंग से बनाते है। 
साझा करने की बात से दूर हटते है। 
एक महान साथी और जीवन भर के दोस्त होते है।

कुंभ राशि: 20 जनवरी - 18 फ़रवरी

कुंभ राशि को जल वाहक द्वारा दर्शाया जाता है। इसका चिन्ह एक हवाई संकेत है। मानवीय, परोपकारी, निष्पक्ष, आधुनिक और व्यावहारिक होते हैं। मानव जाति के प्रति प्यार और समाज की बेहतरी के लिए कुछ भी कर सकते हैं। ये विचारों, जीवन और गति की स्वतंत्रता के साथ आविष्कारक या तकनीकी विशेषज्ञ साबित होते हैं। सहानुभूति, संवेदनशीलता, दार्शनिकता, दोस्ताना प्रवर्ति के होते है। 
अपरंपरागत और एक बोहेमियन जीवन शैली जीते है।
दोस्तों के प्रति उदार संग्रह रखते है। 
मानवीय, बहुत मिलनसार, बुद्धिमान और मित्र बनाने के लिए त्वरित रहते है। 
कला प्रेमी और एक इत्मीनान से जीवन शैली का आनंद लेंते है।

मीन: फरवरी 1 9 - 20 मार्च

मीन एक मछली द्वारा प्रतीक बनता है। इसका चिन्ह पानी है। ये आध्यात्मिक, निस्वार्थ आदर्शवादी होते हैं। ये किसी भी बात को बड़े ही सकारात्मक रूप से लेते हैं और इन्हें दुनिया को अपनी ही नजर से देखना पसंद हैं। ये लोग आकर्षक होते हैं। 

निष्ठुर और गहरा भावनात्मक रिश्ते बनाते है। 
एक गलती के लिए निःस्वार्थ मन से माफ़ करते हैं। 
सात्विक, प्रेमी और दोस्त को समर्पित होते है।

आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी