language
Hindi

उदय हो गए न्याय के देवता ‘शनि’, इस दौरान राशि अनुसार करें ये उपाय

view2098 views
गत 4 दिसंबर, 2017 को अस्त हुए शनि का 8 जनवरी, 2018 को पुन: उदय हो रहा है। शाम 7 बजकर 50 मिनट पर शनि का उदय होगा और दिसंबर 2018 तक वे इसी अवस्था में रहेंगे। ज्योतिष की भाषा में कहा जाए तो जब सूर्य और शनि एक दूसरे के निकट जाते हैं तो वो शनि का अस्तकाल माना जाता है। 

शनि का यह उदय काल हो या अस्त काल, सभी राशियों के लिए ये खास महत्व रखता है। इस दौरान आपको क्या-क्या उपाय करने चाहिए ताकि शनि देव आपसे प्रसन्न रहें और आप उनके कोप के भागी ना बनें, इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं। जानिए राशि अनुसार।  

मेष राशि के जातकों को इस दौरान ईश्वर में पूर्ण आस्था रखने और किसी विपरीत लिंग के जातक से बहस ना करने की सलाह दी जाती है। गरीब व्यक्ति को जूते-चप्पल दान करना फायदेमंद साबित हो सकता है। 

वृषभ राशि के जातकों को खुद को बचाने हेतु रक्षात्मक नीतियों को अपनाना चाहिए। 6 पीपल के पत्तों को काले धागे में पिरोकर शनि मंदिर में चढ़ाएं। 

मिथुन राशि के जातकों के लिए यह समय अत्याधिक खर्च करवा सकता है, आपको नियंत्रण रखना ही होगा। बरगद के पेड़ पर दूध और तिल चढ़ाएं। 

कर्क राशि के जातकों को ज्यादा नहीं बोलना चाहिए, शायद मुंह से कुछ गलत निकल सकता है। किसी वृद्ध और निर्धन महिला को 400 ग्राम उड़द की दाल दान करें। 

सिंह राशि वाले जातक नियमित तौर पर हर शनिवार पीपल के पेड़ के नीचे  कपूर में रखकर लौंग जलाएं। आपको निराशाजनक विचारों से बाहर आने की आवश्यकता है। 

अगर आपकी राशि कन्या है तो आपको किसी सिक्के पर नील लगाकर गरीब बच्चे को दान करना चाहिए। आपके लिए समय अच्छा है, इसका पूरा लाभ उठाएं। 

अगर आप तुला राशि के अंतर्गत आते हैं तो बड़ी इलायची सिर के ऊपर से वारकर पूजा घर में रख दें। आपको अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा। 

वृश्चिक राशि के जातकों को चावल के दानों पर काजल लगाकर शनि देव को अर्पित करने चाहिए। साथ ही आपको बहसबाजी से भी बचना चाहिए। 

धनु राशि के जातकों के लिए यह सलाह है कि वे स्टील कलश में पानी भरकर उसे घर की पश्चिम दिशा में रख दें। आपको अपने संबंधों को मजबूत बनाने की कोशिश करनी चाहिए। 

अगर आप मकर राशि के अंतर्गत आते हैं तो आपको भोज पत्र पर ‘प्रीं’ लिखकर उसे तिजोरी में रख लेना चाहिए। साथ ही साथ आपको अपने परिवार को भी पर्याप्त समय देने की आवश्यकता है। 

कुंभ राशि के जातकों को शनिदेव के मस्तक पर काजल से तिलक करना चाहिए। जितना हो सके दूसरों से मीठा बोलने की कोशिश करें। 

अगर आप मीन राशि के अंतर्गत आते हैं तो आप ‘शनिदेव सहाय’ लिखकर अपने पर्स में रखें। साथ ही साथ आपको अपने पारिवारिक जनों की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए। 
आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी