language
Hindi

ज्योतिष शास्त्र: शेयर मार्केट में कब और कैसे मिलेगा लाभ

view430 views
धरती पर रहने वाला हर इंसान सहूलियत और सुविधा की जिंदगी जीना चाहता है। इसके लिए कोई भी जोड़-तोड़ करनी पड़े वो करने की कोशिश करता है। धन और वो भी बिना अधिक मेहनत के मिल जाए, हममें से ज्यादातर लोग ऐसा ही सोचते हैं। कुछ जॉब के साथ ही साथ कोई व्यवसाय करके अपनी आय बढ़ाने की कोशिश करते हैं तो कुछ अचानक करोड़पति बनने का सपना संजोए शेयर, लॉटरी और सट्टे का सहारा लेते हैं। किंतु शेयर, लॉटरी और सट्टे के माध्यम से केवल कुछ ही अपने ख्वाबों को पूरा कर पाने में सफल होते हैं बाकी तो अपनी जमा पूंजी डुबा कर अपनी किस्मत को कोसते नज़र आते हैं। ध्यान रहे कि शेयर, सट्टा, लॉटरी जैसे आय के साधन काफी हद तक व्यक्ति की किस्मत पर निर्भर करते हैं। 

यह प्रायोगिक और पूर्णतया सिद्ध तथ्य है कि सट्टा और शेयर बाज़ार में वही इंसान लाभ कमा सकता है जिसकी कुण्डली में मजबूत धन योग हो साथ ही अचानक धन लाभ के भी योग बनते हों।

यदि ऐसा व्यक्ति ज्योतिष के मूलभूत सिद्धांतों का सतर्कतापूर्वक अनुसरण करे तो बेहद अल्प काल में वह अकूत संपदा का स्वामी बन सकता है। आइए जानते हैं क्या हैं सट्टा और शेयर मार्केट से लाभ कमाने के योग तथा कैसे तय करें शेयर खरीदने और बेचने का समय? 

1.लग्न, लग्नेश और लग्न के कारक की मजबूती 
2.धन भाव, धनेश तथा धन के कारक बृहस्पति का बल 
3.पंचम भाव, पंचमेश एवम् पंचम भाव के कारक का बल 
4.अष्टमेश और अष्टम भाव की मजबूती 
5.भाग्येश तथा दशमेश की स्थिति 
6.लाभ भाव, लाभेश का बलाबल 
7.पंचमेश और बृहस्पति का युति योग 
8.पंचमेश पर शुक्र की दृष्टि 

यदि उपरिवर्णित योगों का बलाबल निर्धारित करके अनुकूल होरा, चौघड़िया एवं राहु काल को ध्यान में रखते हुए लग्नेश तथा योगबल वाले ग्रहों से संबंधित वस्तुओं का व्यापार करने वाली कंपनी के शेयर बेचे या खरीदे जाएं तो बड़ी आय प्राप्त की जा सकती है। इसी प्रकार अनुकूल ग्रह योगों में सट्टा बाज़ार से भी असीमित लाभ उठाया जा सकता है।
आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी