language
Hindi

मंगल की शुभ स्थिति में मिलते हैं ऐसे परिणाम

view1273 views

शनि, मंगल, राहु और केतु... ये उन ग्रहों के नाम हैं जो किसी भी व्यक्ति को भयभीत कर सकते हैं। किसी को यह जान पड़ जाए कि उसकी कुंडली में इन ग्रहों की स्थिति सही नहीं है, उसकी तो रातों की नींद ही उड़ जाए।

शनि की साढ़े साती हो या कुंडली में राहु-केतु और मंगल की अशुभ स्थिति... इनके उपचार के लिए हनुमत अराधना को ब्रह्मास्त्र माना गया है। हम आपको इन ग्रहों के कुप्रभाव से मुक्ति पाने के विभिन्न उपाय भी बता चुके हैं और साथ ही आपको ये भी बताया है कि आपकी कुंडली में इन ग्रहों की स्थिति अच्छी नहीं है... ये बात आप किन संकेतों के जरिए जान सकते हैं।

लेकिन आज हम आपको एक अच्छी खबर देने जा रहे हैं। मंगल के अशुभ प्रभाव से तो हमने आपको पहले ही परिचित करवा दिया है, लेकिन अब हम आपको बताते हैं कि आप ये कैसे जान सकते हैं कि आपके या सामने वाले व्यक्ति की कुंडली में मंगल की स्थिति अच्छी है या मंगल उसके लिए शुभ है।

मंगल को सेनापति ग्रह कहा गया है। जिस व्यक्ति की कुंडली में मंगल ग्रह शुभ होता है, ऐसा व्यक्ति न्यायप्रिय और ईमानदार व्यक्तित्व का होता है।

सामने वाले व्यक्ति की कुंडली में मंगल का प्रभाव शुभ है, यह तब मालूम पड़ता है जब व्यक्ति साहसी हो और सैन्य अधिकारी बनने में कामयाब हो जाए। इसके अलावा किसी कंपनी के श्रेष्ठ पद पर बैठे व्यक्ति या फिर कोई शीर्ष नेता.. इनकी कुंडली का मंगल भी शुभ होता है।

मंगल को अच्छाई पर चलने वाला ग्रह माना गया है लेकिन जब इसे बुरे मार्ग पर चलने की प्रेरणा मिल जाती है तो यह बुराई की ओर भागने लगत है। ऐसे ही अगर कोई व्यक्ति स्वभावगत अच्छा हो लेकिन किसी कारणवश या फिर किसी के बहकावे में आकर वह बुराई का रास्ता पकड़ ले तो यह दर्शाता है कि उसकी कुंडली का मंगल शुभ है और उसे वापस सही रास्ते पर लाया जा सकता है। 

जिस व्यक्ति की कुंडली में मंगल शुभ स्थिति में होता है उसकी नेतृत्व क्षमता कमाल की होती है। वह अत्याधिक पराक्रमी और साहसी होते हैं।

ऐसे व्यक्ति जिनकी कुंडली में मंगल का प्रभाव शुभ होता है उनकी त्वचा का रंग तांबे की तरह और आंखें अपेक्षाकृत लंबा होती हैं। ये लोग भीड़ में भी अपनी अलग पहचान रखते हैं।

 

आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी