language
Hindi

क्या आपके ऊपर भी चल रही है शनि की ढैय्या या साढ़ेसाती... जानिए वक्री शनि की दशा में क्या मिलेगा आपको

view3554 views

न्याय के देवता शनि अपनी चाल बदलकर 18 अप्रैल, 2018 से धनु में वक्री होने जा रहे हैं और 6 सितंबर, 2018 तक वह इसी स्थिति में रहेंगे। इस समय वृषभ और कन्या राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है और वृश्चिक, धनु और मकर राशियों के जातक शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित हैं।


वक्री स्थिति में शनि उलटी चलते हैं और मार्गी में उनकी चाल सीधी हो जाती है। तो चलिए जानते हैं ज्योतिषशास्त्रियों के अनुसार शनि की यह वक्री चाल उन राशियों पर कैसा प्रभाव डालेगी जो पहले से ही शनि के प्रभाव में हैं।


वृषभ राशि

पहले बात करते हैं उन राशियों की बात करते हैं जिनके ऊपर शनि की ढैय्या है। इस सूची में सबसे पहला नाम है वृषभ राशि के जातकों का। शनि की ढैय्या की वजह से आपके पारिवारिक जीवन में उथल-पुथल हो सकती है, साथ ही पिता के साथ आपके रिश्ते भी कड़वे हो सकते हैं। बच्चों के साथ संबंध सुधारने की कोशिश करे। निरधनों में जूतों और कपड़ों का वितरण करें।


कन्या राशि

आप अपने निवास स्थान में बदलाव मुमकिन है। आपको अपने क्रोध में नियंत्रण रखना चाहिए, अन्यथा काम बिगड़ सकता है। इस अवधि के दौरान कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे आपकी शांति भंग हो। आपके परिवार में जमीन-जायदाद से संबंधित विवाद पैदा हो सकते हैं। हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करना आपके लिए हितकर रहेगा।


वृश्चिक राशि 

इसके अलावा अब बात करते हैं उन राशियों की जिनके ऊपर पहले से ही शनि की साढ़ेसाती चल रही है। इस सूची में सबसे पहला नाम है वृश्चिक राशि का। इस स्थिति में पारिवारिक जीवन में अशांति पैदा हो सकती है, परिस्थितियां आपको स्वयं नियंत्रित करनी होंगी। इस साल आपको किस कारणवश परिवार से दूर रहना पड़ सकता है।


धनु राशि

दूसरी राशि है धनु, इस समय आपको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। हो सकता है आपको मानसिक तनाव से भी गुजरना पड़े। पारिवारिक दृष्टिकोण से आपको अपने भाई-बहनों से लाभ प्राप्त होगा। बेहतर यही रहेगा कि इस अवधि के दौरान मांस-मदिरा से दूरी बनाकर रखें। हनुमत अराधना आपको लाभ देगी।


मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए आने वाला समय परेशानियों भरा हो सकता है। आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से गुजरना पड़ सकता और खर्चों में भी वृद्धि मुमकिन है। विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं, यह समय आपके लिए अनुकूल रहने वाला है। शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें।

 

आपको यह आलेख कैसा लगा, अपनी टिप्पणी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं
टिप्पणी