language
Hindi

ज्योतिष शास्त्र

ज्योतिष: वैदिक ज्योतिष

भारतीय ज्योतिष को वैदिक ज्योतिष भी कहा जाता है। वैदिक ज्योतिष की परिभाषा पर गौर करें तो यह एक ऐसा विज्ञान है जिसमें समय, दिन और दिनांक के आधार ग्रहों की स्थिति निर्धारित होती है और इन्हीं ग्रहों के आधार पर मनुष्य का जीवन संचालित होता है। सौरमंडल के 9 ग्रह मिलकर 12 राशियों का निर्माण करते हैं जो मनुष्य के व्यवहार और उसके चरित्र का निर्धारण करती हैं।
सेवाएं सभी देखें »
स्टीवन मेनजेस की सहायता से जानें क्या कोई नकारात्मक शक्ति आपके जीवन की परेशानियों का कारण बन रही है
मूल्य ` 10620 | $ 177
अभी खरीदें
प्रश्न कुंडली और जन्म कुंडली के आधार पर स्टीवन मेनेजस से पाएं विवाहित संबंधों में मनमुटाव का कारण और समाधान के उपाय
मूल्य ` 6490 | $ 109
अभी खरीदें
स्टीवन मेनेजस की सहायता से करें माता या पिता के पूर्वजों पर लगे श्राप की पहचान
मूल्य ` 7080 | $ 118
अभी खरीदें
स्टीवन मेनेजस द्वारा जानें जन्म कुंडली के अनुसार आपको कौनसा रत्न पहनना चाहिए
मूल्य ` 4130 | $ 69
अभी खरीदें
विशेषज्ञ सभी देखें »
अजय भांबी
अजय भांबी
30 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र विशेषज्ञ
अनिल कुमार जैन
अनिल कुमार जैन
20 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र विशेषज्ञ
नंदिता पांडे
नंदिता पांडे
21 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र, अंकशास्त्र, टैरो, वास्तु विशेषज्ञ
डॉ. सी वी बी सुब्रह्मण्यम
डॉ. सी वी बी सुब्रह्मण्यम
35 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र विशेषज्ञ

ज्योतिष शास्त्र 2017

हजारों सालों से मानव सही दिशा की तलाश के लिए ब्रह्मांडीय शक्तियों पर आश्रित रहा है। खगोलीय पिंड के इस विज्ञान को ज्योतिषशास्त्र का नाम दिया गया है। अन्य शब्दों में कहा जाए तो ज्योतिष शास्त्र अन्य ग्रहों के साथ पृथ्वी पर रहने वाले मनुष्यों के जीवन में घटित होने वाली घटनाओं के संबंध का विज्ञान है।

ऐसा माना जाता है कि जब मनुष्य का जन्म होता है तो उस समय मौजूद ग्रहों और नक्षत्रों की स्थिति का उसके जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है, जिसे वह ताउम्र महसूस करता है। ये ना सिर्फ संबंधित जातक की नियति को प्रभावित करता है बल्कि उसके साथ घटने वाली सकारात्मक या नकारात्मक, दोनों ही घटनाओं का कारण भी बनता है। ज्योतिषशास्त्र की सहायता से, प्रशिक्षित ज्योतिषशास्त्री आपकी जन्मपत्री बनाते हैं। आपकी जन्मपत्री के जरिए ही यह जाना जाता है कि आपके जीवन में किस समय क्या होगा, किस समय कौन सी घटना घटेगी। इतना ही नहीं आपकी कुंडली या जन्मपत्री के माध्यम से यह भी जाना जा सकता है कि आपका कॅरियर, निजी संबंध, स्वास्थ्य, वित्तीय स्थिति कैसी रहेगी।

सिर्फ इतना ही नहीं, ज्योतिषशास्त्र भविष्य में होने वाली घटनाओं की भविष्यवाणी भी करता है। ज्योतिष की सहायता से हम अपने जीवन में घटने वाली शुभ-अशुभ घटनाओं के बारे में जान सकते हैं। भविष्य में होने वाली घटनाएं पूरी तरह अप्रत्याशित हैं, इसलिए हमें पहले से ही अच्छे-बुरे के लिए तैयार रहना चाहिए। ज्योतिषशास्त्र के विभिन्न स्वरूप या शाखाएं हैं, जिनके जरिए आप अपने अतीत, वर्तमान और भविष्य के बारे में जान सकते हैं। हस्तरेखा शास्त्र, लाल किताब, वास्तुशास्त्र, कुंडली आंकलन ज्योतिषशास्त्र की अलग-अलग शाखाएं ही हैं।

भविष्य में आने वाली समस्याओं के अलावा ज्योतिषशास्त्र की सहायता से यह भी जाना जा सकता है कि उन समस्याओं से मुक्ति कैसी पाई जाए, यानि उपाय। ज्योतिषशास्त्र हमें विभिन्न उपाय और समाधान भी बताता है, ताकि हम आने वाली समस्याओं से पहले ही खुद को बचा लें या मौजूदा समस्याओं से निजात पा सकें। एस्ट्रोस्पीक पर हम आपको प्रख्यात ज्योतिषशास्त्रियों से संपर्क करने का एक अवसर उपलब्ध करवा रहे हैं, जो ना सिर्फ आपके भविष्य के बारे में बताते हैं बल्कि समस्याओं का निदान भी आपको देते हैं। ताकि आप एक सुखद और सहज जीवन व्यतीत कर सकें।

अन्य संबंधित जानकारी आपको हमारी वेबसाइट पर मिल जाएगी।