language
Hindi
विनायक चतुर्थी पूजा:  18 मई, 2018

विनायक चतुर्थी पूजा: 18 मई, 2018

sold63 लोगों ने इसे खरीदा

विनायक चतुर्थी, हिन्दू धर्म के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। हिन्दू पौराणिक दस्तावेजों के अनुसार चतुर्थी तिथि का संबंध भगवान शिव और माता पार्वती के पुत्र गणपति से है। हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रतिमाह दो चतुर्थी आती है, इनमें से एक चतुर्थी को विनायक चतुर्थी और दूसरी चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है। विनायक चतुर्थी शुक्ल पक्ष की अमावस्या के बाद आती है और संकष्टी चतुर्थी कृष्ण पक्ष की पूर्णिमा के बाद आती है।

इस दिन की महत्ता को ध्यान में रखते हुए एस्ट्रोस्पीक के माध्यम से आप विनायक चतुर्थी के अवसर पर विशेष पूजा का आयोजन करवा सकते हैं।  


विनायक चतुर्थी पूजा के लाभ:

यह आपके जीवन की समस्त परेशानियों को समाप्त करती है।

किसी भी प्रकार के ऋण से मुक्ति के साथ ही जीवन में समृद्धि का आगमन

व्यवसाय में लाभ

बुध ग्रह के दुष्प्रभाव से मुक्ति

शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे परिणाम और उच्च शिक्षा की प्राप्ति के लिए

पूर्ण भौतिक और आध्यात्मिक विकास

शत्रुओं और विरोधियों से बचाव

व्यवसाय और नौकरी में सफलता

आपके परिवार के लिए सौभाग्य और समृद्धि का आगमन

 

गणपति पूजा में क्या है शामिल

गणपति स्थापना

कलश स्थापना

दीप प्रज्वलित

संकल्प

षडोपचार पूजा

गणपति अभिषेक

गणपति अथर्वशीर्ष पाठ

आरती

पूजा सामग्री

हवन सामग्री

ब्राह्मणों के लिए दक्षिणा

यह पूजा आपके नाम से, आपके संकल्प (इच्छा) के साथ की जाएगी। प्रशिक्षित पंडित सभी वैदिक नियमों का पालन करते आपके निमित्त यह पूजा संपन्न करेंगे। एक बार आप पूजा बुक करते हैं, हम आपको विस्तृत जानकारी के साथ एक मेल भेजेंगे, साथ ही एक ऑनलाइन लिंक भी आपको भेजा जाएगा जिसके जरिए आप पूजा होते स्वयं देख पाएंगे।

4130 59
मूल्य ` 4130 | $ 59 टैक्स सहित सेवा सक्रिय नहीं है
sold63 लोगों ने इसे खरीदा

समान पूजाएं

आपको शायद दिलचस्पी हो

अजय भांबी द्वारा विवाह संबंधी विवरण
किसी भी व्यक्ति के जीवन में विवाह बहुत अहम स्थान रखता है। एक सही इंसान को अपना जीवनसाथी बनाकर आप......  और पढ़ें »
हनी चोपड़ा द्वारा विवाह संबंधी विवरण
वैयक्तिक जीवन में विवाह एक बहुत महत्वपूर्ण पड़ाव होता है। यह विवाह से जुड़ा संपूर्ण विवरण होगा,......  और पढ़ें »