language
Hindi

टैरो

टैरो कार्ड का उद्भव

टैरो के पैकेट में 78 कार्ड होते हैं और इसी में व्यक्ति का जीवन कैद होता है। टैरो द्वारा भविष्य आंकने की विधा 15वीं शताब्दी से यूरोप में प्रचलित है। 18वीं शताब्दी आते-आते यह विधा दुनिया के अन्य देशों में भी लोकप्रिय होने लगी। इसके जरिए ना सिर्फ भविष्य का पता लगाया जा सकता है बल्कि आपको मार्गदर्शन भी प्राप्त होता है।

टैरो एक तरह की प्रैक्टिस है, जिसके जरिए आप अलौकिक सत्ता के इशारों को समझकर अपना मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं। कार्ड चुनने और रखने की श्रृंखला इसका आधार बनती है। टैरो कार्ड्स की सहायता से आप व्यक्ति के भीतर चल रही मंशाओं तक का पता लगा सकते हैं।
सेवाएं सभी देखें »
पूजा वर्मा द्वारा टैरो परामर्श
पूजा वर्मा द्वारा टैरो परामर्श
प्रस्तुति पूजा वर्मा
मूल्य ` 2360 | $ 40
अभी खरीदें
इन्दु अहुजा से पूछें सवाल
इन्दु अहुजा से पूछें सवाल
प्रस्तुति इंदु अहुजा
मूल्य ` 1534 | $ 26
अभी खरीदें
इन्दु अहुजा द्वारा पाएं संतान संबंधी परेशानियों का हल
मूल्य ` 4130 | $ 69
अभी खरीदें
विशेषज्ञ सभी देखें »
नंदिता पांडे
नंदिता पांडे
21 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र, अंकशास्त्र, टैरो, वास्तु विशेषज्ञ
इंदु अहुजा
इंदु अहुजा
13 वर्षों का अनुभव
टैरो विशेषज्ञ
आनंद सागर पाठक
आनंद सागर पाठक
14 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र, टैरो विशेषज्ञ
रितु शुक्ला
रितु शुक्ला
19 वर्षों का अनुभव
ज्योतिष शास्त्र, अंकशास्त्र, टैरो, वास्तु विशेषज्ञ
इतिहास पर नजर डालें तो वर्ष 1971 में जीन बैप्टिस्ट ने पहली बार टैरो कार्ड का प्रयोग भविष्य जानने की विधा के तौर पर किया था।

इससे पहले इटली और फ्रांस के बहुत से क्षेत्रों में टैरो सिर्फ पत्ते खेलने के काम आता था। जीन बैप्टिस्ट ने इन टैरो कार्ड्स को ज्योतिष के साथ जोड़ा और चार तत्वों की पहचान की। उन्होंने ही टैरो के इन 78 पत्तों को “मेजर अर्काना” और “माइनर अर्काना” के बीच विभाजित किया। उनका विश्वास था कि टैरो कार्ड्स बुक ऑफ थॉट से दैविक रूप से प्रभावित है, इस पर प्राचीन मिस्र के ग्रंथों का प्रभाव है। टैरो के अंतर्गत एक प्रश्नकर्ता और रीडर की आवश्यकता होती है।

जो व्यक्ति सवाल करता है, वह कार्ड को फेंटता है। तब रीडर कार्ड को अनियमित क्रम में लगाता है। हर कार्ड का क्रम भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में कहता है। रीडर उस अर्थ को समझता है और फिर प्रश्नकर्ता के सवाल का जवाब देता है। टैरो केवल रीडर और प्रश्नकर्ता की दिलचस्पी का विषय है, क्योंकि बहुत से लोग ऐसे लोग हैं जो टैरो द्वारा की गई भविष्यवाणी को सच नहीं मानते।

विश्वास और अविश्वास के बीच आप इस बात को बिल्कुल नहीं नकार सकते कि टैरो कार्ड एक ऐसी रहस्यमय विद्या है, जिसके जरिए आपके भविष्य के भीतर झांका जा सकता है।
राशिफल 2018